Constitution

Indian council act 1909 in Hindi

Indian council act 1909 in Hindi – मार्ले-मिन्टो सुधार 1909

Indian council act 1909 in Hindi – दोस्तों, आज हम भारत परिषद अधिनियम 1909 के बारे में जानेंगें, इस एक्ट को मार्ले-मिन्टो सुधार ( Minto Morley reforms ) के नाम से भी जाना जाता है।  भारत परिषद अधिनियम 1909 की पृष्टभूमि ( Background of Indian council act 1909  ) भारत परिषद अधिनियम 1892 की जैसे …

Indian council act 1909 in Hindi – मार्ले-मिन्टो सुधार 1909 Read More »

भारत परिषद अधिनियम 1892

भारत परिषद अधिनियम 1892 – Indian council act 1892 in Hindi

भारत परिषद अधिनियम 1892 – दोस्तों, आज हम भारत परिषद अधिनियम 1892 के बारे में जानेंगे, ब्रिटिश सरकार ने इस एक्ट को भारत परिषद अधिनियम 1861 के प्रावधानों को और ज्यादा बेहतर करने के लिए लागू किया था।  भारत परिषद अधिनियम 1892 की पृष्टभूमि ( Background of Indian council act 1892 ) भारत परिषद अधिनियम …

भारत परिषद अधिनियम 1892 – Indian council act 1892 in Hindi Read More »

Indian Council Act 1861 in Hindi

Indian Council Act 1861 in Hindi – भारत परिषद अधिनियम 1861

Indian Council Act 1861 in Hindi – दोस्तों, आज हम भारत परिषद अधिनियम 1861 के बारे में जानेंगे, ब्रिटिश सरकार ने इस एक्ट के द्वारा ईस्ट इंडिया कंपनी के भारत में जो शासन करने के सरकारी नियम थे उनमे बहुत बदलाव किये थे, ताकि भारत का शासन सुचारु रूप से चल सके।  भारत परिषद अधिनियम …

Indian Council Act 1861 in Hindi – भारत परिषद अधिनियम 1861 Read More »

Government of India act 1858 in Hindi

Government of India act 1858 in Hindi – भारत सरकार अधिनियम 1858

Government of India act 1858 in Hindi – दोस्तों, आज हम भारत सरकार अधिनियम 1858 के बारे में जानेंगे, यह एक्ट ब्रिटिश सरकार द्वारा ईस्ट इंडिया कंपनी के भारत में शासन को ख़त्म करने के लिए लागू किया गया था।  इस एक्ट को क़्वीन प्रोक्लेमेशन एक्ट 1858 ( Queen’s Proclamation Act 1858 ) के नाम …

Government of India act 1858 in Hindi – भारत सरकार अधिनियम 1858 Read More »

Charter act 1853 in Hindi

Charter act 1853 in Hindi – चार्टर एक्ट 1853 📚

Charter act 1853 in Hindi – दोस्तों, आज हम चार्टर एक्ट 1853 के बारे में जानेंगे, जैसे की ब्रटिश सरकार द्वारा चार्टर एक्ट 1833 में ईस्ट इंडिया कंपनी के चार्टर को 20 वर्ष के लिए बढ़ा दिया था तो अब अगला चार्टर एक्ट 1853 को ब्रिटिश सरकार द्वारा लागू किया गया था।  इस एक्ट के …

Charter act 1853 in Hindi – चार्टर एक्ट 1853 📚 Read More »

Charter act 1833 in Hindi

Charter act 1833 in Hindi – चार्टर एक्ट 1833 – Saint Helena act

Charter act 1833 in Hindi – दोस्तों, आज हम चार्टर एक्ट 1833 के बारे में जानेंगे, यह एक्ट भी चार्टर एक्ट 1813 की तरह ही ब्रिटिश सरकार द्वारा ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के चार्टर को 20 वर्ष के नवीकरण ( Renew ) के लिए लागू किया गया था।  इस एक्ट को सेंट हेलेना एक्ट ( …

Charter act 1833 in Hindi – चार्टर एक्ट 1833 – Saint Helena act Read More »

Charter act 1813 in Hindi

Charter act 1813 in Hindi – चार्टर एक्ट 1813 📚

Charter act 1813 in Hindi – दोस्तों, आज हम चार्टर एक्ट 1813 ( Charter act 1813 ) के बारे में जानेंगे, यह एक्ट ब्रिटिश सरकार के द्वारा ईस्ट इंडिया कंपनी के चार्टर को 20 वर्ष के लिए आगे बढ़ाने के लिए लागू किया गया था।  चार्टर एक्ट 1813 की पृष्टभूमि  1740 में यूरोपीय क्षेत्रों में …

Charter act 1813 in Hindi – चार्टर एक्ट 1813 📚 Read More »

पिट्स इंडिया एक्ट

पिट्स इंडिया एक्ट – Pitt’s India act 1784 in Hindi 📚

पिट्स इंडिया एक्ट – दोस्तों, आज हम पिट्स इंडिया एक्ट के बारे में जानेंगे, यह एक्ट अंग्रेजों द्वारा 1784 में लागू किया गया था और इस एक्ट को ईस्ट इंडिया कंपनी एक्ट भी कहा जाता है।   पिट्स इंडिया एक्ट को लागू करने का सबसे महत्वपूर्ण कारण 1773 रेगुलेटिंग एक्ट की कमियों को दूर करना …

पिट्स इंडिया एक्ट – Pitt’s India act 1784 in Hindi 📚 Read More »

1773 regulating act in hindi

1773 regulating act in hindi 📃- विशेषताएँ, महत्व, क्यूँ बनाया गया, पृष्ठभूमि

1773 regulating act in hindi – दोस्तों, जैसा कि आप सबको पता है की अंग्रेजो ने भारत पर बहुत लम्बे समय तक शाशन किया और भारत को बहुत कठिनाइयों के बाद आज़ादी मिली थी। अंग्रेजो ने भारत पर शाशन सही और सुचारू रूप से चलाने के लिए कई योजनाएँ बनाई और कई ऐक्ट तथा बिल …

1773 regulating act in hindi 📃- विशेषताएँ, महत्व, क्यूँ बनाया गया, पृष्ठभूमि Read More »

संविधान संशोधन

संविधान संशोधन – विशेषताएं, सूची, क्यूँ करने पड़े संशोधन, कारण

संविधान संशोधन – दोस्तों, भारतीय संविधान में जब वह बनकर तैयार हुआ था तब उसमे मूल रूप से 395 अनुछेद, 8 अनुसूचियाँ, और 22 भाग थे, परंतु जैसा की आप जानते है समय हमेशा एक जैसा कभी नहीं रहता, समय परिवर्तित होता रहता है। इसलिए भारतीय संविधान में समय समय पर संशोधन हुए, जिसमे कुछ …

संविधान संशोधन – विशेषताएं, सूची, क्यूँ करने पड़े संशोधन, कारण Read More »