Modern History

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम – भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु 💪

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम – दोस्तों, आज हम भारत के स्वतंत्रता संग्राम के संबंध में चर्चा करेंगे, जैसे की हमने हमारे पिछले आर्टिकल्स में जाना की कैसे 1857 की क्रांति और बहुत सारी घटनाओं से भारत में राष्ट्रवाद उत्पन्न होने लग जाता है।  भारत का प्रथम संग्राम 1857 की क्रांति को माना जाता है। शुरुआत में …

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम – भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु 💪 Read More »

प्रार्थना समाज

प्रार्थना समाज – Prarthana Samaj in Hindi 📜

प्रार्थना समाज – दोस्तों, आज हम प्रार्थना समाज के बारे में जानेंगे, पिछले आर्टिकल में हमने ब्रह्म समाज के बारे में जाना था।  जिस प्रकार जब 1828 में बंगाल में ब्रह्म समाज की स्थापना से बंगाल में समाज और धार्मिक सुधार बहुत तेजी से हो रहे थे, उसी प्रकार 1840 के आसपास बॉम्बे में परमहंस …

प्रार्थना समाज – Prarthana Samaj in Hindi 📜 Read More »

ब्रह्म समाज

ब्रह्म समाज – Brahmo Samaj in Hindi 📜

ब्रह्म समाज – दोस्तों, आज हम ब्रह्म समाज के बारे में जानेंगे, 1828 में राजा राममोहन राय द्वारा ब्रह्म सभा की स्थापना की जाती है, किंतु कुछ ही समय के बाद इस संस्था का नाम ब्रह्म सभा ( Brahma Sabha ) से बदलकर ब्रह्म समाज ( Brahmo Samaj ) कर दिया गया था। इस संस्था …

ब्रह्म समाज – Brahmo Samaj in Hindi 📜 Read More »

आर्य समाज

आर्य समाज – Arya Samaj in Hindi, 10 नियम ☸️

आर्य समाज – दोस्तों, कैसे हैं आप सब आज हम आर्य समाज के ऊपर चर्चा करेंगे और उसके बारे में जानेंगे।  आर्य समाज को दयानन्द सरस्वती के द्वारा 1875 में स्थापित किया गया था, हम सबसे पहले दयानन्द सरस्वती के ऊपर चर्चा करेंगे और देखेंगे की वह क्या परिस्थियाँ रही की उन्हें आर्य समाज की …

आर्य समाज – Arya Samaj in Hindi, 10 नियम ☸️ Read More »

Rowlatt act in Hindi

Rowlatt act in Hindi – रॉलेट एक्ट 1919 📜

Rowlatt act in Hindi – दोस्तों, आज हम रॉलेट एक्ट के बारे में जानेंगे, जिसे अंग्रेजों ने प्रथम विश्व युद्ध के अंत होते ही अपने स्वार्थ के लिए लागू किया था, इस एक्ट को काले कानून के नाम से भी संबोधित किया जाता है।  रॉलेट एक्ट की पृष्ठभूमि  जब जुलाई, 1914 में प्रथम विश्व युद्ध …

Rowlatt act in Hindi – रॉलेट एक्ट 1919 📜 Read More »

बंगाल विभाजन

बंगाल विभाजन ( 1905 ) – Partition of Bengal in Hindi 💂

बंगाल विभाजन – दोस्तों, आज हम बंगाल विभाजन के संबंध में जानेंगे, जिसके कर्ता-धर्ता लॉर्ड कर्जन थे, इस विभाजन से अंग्रेजों का उद्देश्य भारतीयों में हिन्दू और मुस्लिम को अलग करना और सबसे महत्वपूर्ण भारतीयों के स्वतंत्रता संग्राम को कमज़ोर करना था।  बंगाल विभाजन की पृष्ठभूमि  लॉर्ड कर्जन भारत में 1899 में वायसराय के पद …

बंगाल विभाजन ( 1905 ) – Partition of Bengal in Hindi 💂 Read More »

Doctrine of Lapse in hindi

Doctrine of Lapse in hindi – व्यपगत का सिद्धान्त ( हड़प नीति ) 1848-1856 📜

Doctrine of Lapse in hindi – दोस्तों, आज हम व्यपगत का सिद्धान्त ( Doctrine of Lapse ) के संबंध में जानेंगे, इस नीति को अंग्रेजी ईस्ट इंडिया कंपनी के गवर्नर जनरल लार्ड डलहौज़ी द्वारा लागू किया गया था।  लार्ड डलहौज़ी अंग्रेजी ईस्ट इंडिया कंपनी की तरफ से भारत में 1848 से लेकर 1856 तक गवर्नर …

Doctrine of Lapse in hindi – व्यपगत का सिद्धान्त ( हड़प नीति ) 1848-1856 📜 Read More »

सहायक संधि

सहायक संधि – Subsidiary Alliance in Hindi ( 1798 to 1805 ) 📜

सहायक संधि – दोस्तों, आज हम सहायक संधि के संबंध में जानेंगे, जिसे अंग्रेजी ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा बहुत सी ऐसी चीजों के लिए भारतीय रियासतों के ऊपर लागू की गई थी, जिससे उन्हें बहुत लाभ होना था और इनके बारे में ही हम आज चर्चा करेंगे।  इस सहायक संधि की मदद से अंग्रेजी कंपनी …

सहायक संधि – Subsidiary Alliance in Hindi ( 1798 to 1805 ) 📜 Read More »

Ring Fence Policy in Hindi

Ring Fence Policy in Hindi – रिंग फेंस नीति ( 1765-1813 ) 📜

Ring Fence Policy in Hindi – दोस्तों, आज हम रिंग फेंस की नीति के बारे में जानेंगे, जो अंग्रेजी ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा अपने स्वार्थ के लिए भारतीय क्षेत्रों के ऊपर लगाई गई थी और इस नीति को बंगाल के गवर्नर जनरल वारेन हेस्टिंग्स द्वारा लागू किया गया था।  रिंग फेंस नीति की पृष्ठभूमि  जब …

Ring Fence Policy in Hindi – रिंग फेंस नीति ( 1765-1813 ) 📜 Read More »

राष्ट्रवाद

राष्ट्रवाद – राष्ट्रवाद क्या है, भारत में राष्ट्रवाद के उदय के कारण 🚩

राष्ट्रवाद – दोस्तों, आज हम राष्ट्रवाद और भारत में उसके उदय के कारणों के संबंध में जानेंगे।  हम सब जब भी आधुनिक भारत के इतिहास में बहुत सारे आंदोलन, अलग-अलग महानायकों के भारत की स्वतंत्रता के लिए बलिदान और भारतीयों में एकजुटता के बारे में पढ़ते है तो उसमें एक भावना हमेशा समान रूप से …

राष्ट्रवाद – राष्ट्रवाद क्या है, भारत में राष्ट्रवाद के उदय के कारण 🚩 Read More »